बुधवार, 28 मई 2014

113. चक्रवात


       अभी सुबह के सवा पाँच बज रहे हैं, पानी बरस रहा है- मूसलाधार तो नहीं कह सकते, मगर अच्छी-खासी बारिश है। साथ में बरसाती हवायें भी चल रही हैं। तापमान गिरा हुआ है। ऐसा परसों दोपहर बाद से चल रहा है। बीच-बीच में मौसम ठीक होता है, मगर फिर बारिश तथा हवायें शुरु हो जाती हैं। काले बादलों को देखकर तो ऐसा लगता है कि मौनसून आ गया है! जबकि यह बंगाल की खाड़ी में उठे चक्रवात (साइक्लोन) का असर है।
       परसों यानि 26 मई (सोमवार) से करीब पहले एक पखवाड़े से हमलोग यहाँ उबल रहे थे।
       ***
       बस हास्य के लिए: हमलोग 16 मई को मजाक कर रहे थे- अब तो तापमान गिरना चाहिए, क्योंकि अच्छे..... । मगर देखिये कि 26 मई से वाकई तापमान गिर गया.... 

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें