बुधवार, 9 जून 2021

252. दृष्टिकोण

 


       एक तस्वीर ऊपर है और एक तस्वीर नीचे। ऊपरवाली तस्वीर में खूबसूरती है और नीचे वाली तस्वीर में बदसूरती।

       अब आप ध्यान दीजिए कि दाहिने-बाँये "आक" (एकवन या अकवन) की दो झाड़ियाँ और दूर में खजूर के पेड़ों की पंक्ती के बीच खड़ा मोबाइल टावर दोनों तस्वीरों में मौजूद है। इसका मतलब क्या है?

       जी हाँ, सही समझे। दोनों तस्वीरें बिलकुल एक स्थान पर खड़े होकर ली गयी हैं- बिना एक कदम खिसकाये।

       फिर यह अन्तर क्यों?

       जाहिर है- ऊपर वाली तस्वीर लेते समय मोबाइल के कोण को (धरती से) 90 डिग्री से ज्यादा रखा गया था और नीचे वाली तस्वीर लेते वक्त कोण को 90 डिग्री से कम रखा गया था। एक में आकाश और बादल तो आये ही, प्रकाश का ऐसा असर पड़ा कि वनस्पति की पंक्ती क्षितिज का आभास देने लगी। दूसरी तस्वीर में जमीन का ज्यादा हिस्सा आया और प्रकाश का असर दूसरे ढंग से पड़ा- वनस्पतियाँ स्पष्ट हो गयीं। कचरे का ढेर तो कुछ ज्यादा ही स्पष्ट हो गया।

       यह सब क्या है?

       "दृष्टिकोण" का अन्तर?

       क्या ऊपर वाली तस्वीर "उदार" एवं "उच्च" दृष्टिकोण को और नीचे वाली तस्वीर "संकीर्ण" एवं "निम्न" दृष्टिकोण को दर्शाती है?

    


(पिछले साल अक्तूबर की तस्वीरें हैं।)

 

       ***